Connect with us

Economy

कोरोना संकट के बीच रमजान से पहले असदुद्दीन औवेसी ने मुस्लिमों से की तरावीह की नमाज के लिए ये अपील|NAAZ

Published

on

कोरोना संकट के बीच रमजान से पहले असदुद्दीन औवेसी ने मुस्लिमों से की तरावीह की नमाज के लिए ये अपील|NAAZ

असदुद्दीन ओवैसी ने रमजान के पवित्र माह के दौरान तरावीह घर में ही करने की अपील मुस्लिम भाइयों से की है.

 

असदुद्दीन ओवैसी ने रमजान के पवित्र माह को लेकर एक ट्वीट किया है

Coronavirus Covid-19: कोराना वायरस की महामारी के चलते पूरा देश इस समय लॉकडाउन का सामना कर रहा है. लॉकडाउन के चलते देश में आम गतिविधियां वैसे तो ठप हैं लेकिन लॉकडाउन के उल्‍लंघन की खबरें भी देशभर से सामने आ रही हैं. ऐसी घटनाओं से कोरोना की खतरा बढ़ने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता. अप्रैल माह में ही मुस्लिम भाइयों के रमज़ान शुरू हो रहे हैं. ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के प्रमुख और सांसद असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने रमजान (रमजान/Ramadan) के पवित्र माह के दौरान तरावीह घर में ही करने की अपील मुस्लिम भाइयों से की है. एक ट्वीट में उन्‍होंने कहा, ‘जामिया निजामिया के एक बयान में हैदराबाद के मुफ्तियों और उलेमाओं ने अपील की है कि रमजान के आने वाले महीने के दौरान घर में ही तरावीह पेश की जाए. बेशक, ये दिशा-निर्देश केवल तेलंगाना और आंध्रप्रदेश पर लागू नहीं होते हैं, पूरे भारत में इनका सख्ती से पालन किया जाना है.’

Asaduddin Owaisi
In a statement from Jamia Nizamia, Hyderabad Muftis & Ulemas of all Schools of Thought have appealed that taraweeh be offered at home during the coming month of #Ramzan. Of course, these guidelines do not just apply to Telangana & AP, they are to be strictly followed across India

कोरोना का कहर : भारत में मरीजों की संख्या 17 हजार के पार, बीते 24 घंटे में सामने आए 1553 नए मामले, 36 की मौत

मुसलमानों का इलाज नहीं करने का इश्तेहार देने वाले UP के अस्पताल पर भड़के ओवैसी, बोले- मुस्लिमों की जिंदगी…

Coronavirus: अमेरिका में नहीं थम रहा कोरोना का कहर, 24 घंटे में 1997 संक्रमितों की मौत
गौरतलब है कि कोरोना वायरस की महामारी के चलते इस समय धार्मिक स्‍थलों को बंद रखा गया है और यहां लोगों को एकत्रित होने से रोकने के निर्देश हैं. लोगों के एकत्र होने से कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने का खतरा है. इससे पहले, इसी माह शबे-बारात के दौरान भी मुस्लिमों से मस्जिद और कब्रिस्‍तान के बजाय घर में ही इबादत करने की अपील की गई थी. दूसरे धर्म के लोगों से भी धार्मिक स्‍थलों पर एकत्रित न होने की अपील की गई है. गौरतलब है कि कोरोनावायरस (Covid-19) का संक्रमण भारत में लगातार पांव पसारता ही जा रहा है. स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक भारत में कोरोनावायरस से संक्रमितों की संख्या: 13387 हो गई है. पिछले 24 घंटों में कोरोना के 1007 नए मामले सामने आए हैं और 23 लोगों की मौत हुई है. देश में कोरोना से अब तक 437 लोगों की मौत हो चुकी है, हालांकि 1749 मरीज इस बीमारी को हराने में कामयाब भी हुए हैं. अच्‍छी बात यह है कि कोरोना से रिकवरी रेट की बात की जाए तो पिछले तीन दिनों के भीतर यह बढ़ा है. बुधवार को 11.41 प्रतिशत, गुरुवार को 12.02 प्रतिशत और शुक्रवार को यह रिकवरी रेट बढ़कर 13.06 प्रतिशत हो गया.

राजधानी दिल्ली में गुरुवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 62 मामले सामने आने के साथ कुल मामले बढ़कर 1640 हो गये और इसके चलते छह लोगों की मौत हो गयी है. दिल्ली सरकार के एक अधिकारी ने इसकी जानकारी दी है. कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए देश में लॉकडाउन को 3 मई तक के लिए बढ़ा दिया गया है. हालांकि 20 अप्रैल से लॉकडाउन के दौरान उन इलाकों में कुछ छूट भी दी जाएंगी जहां कोरोना के मामले कम हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को राष्ट्र के नाम संबोधन में लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा की थी.

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Economy

घर में अगर हैं पालतू जानवर तो कोरोना वायरस पर सरकार के इस आदेश को जरूर पढ़ें

Published

on

घर में अगर हैं पालतू जानवर तो कोरोना वायरस पर सरकार के इस आदेश को जरूर पढ़ें

कोरोना वायरस की रोकथाम को लेकर किए जा रहे उपायों के बीच एक नई जानकारी सामने आई है जो लोगों के लिए परेशानी का सबब बन सकती है.

घर में अगर हैं पालतू जानवर तो कोरोना वायरस पर सरकार के इस आदेश को जरूर पढ़ें
सरकार ने आइसोलेशन सेंटर में बाड़ लगाने के आदेश दिए हैं.

कोरोना वायरस की रोकथाम को लेकर किए जा रहे उपायों के बीच एक नई जानकारी सामने आई है जो लोगों के लिए परेशानी का सबब बन सकती है. दरअसल सरकार की ओर से जारी एक नए दिशा-निर्देश में कहा गया है कि जिन इलाकों में कोविड19 का संक्रमण फैला है वहां कोई चिड़िया या जानवर जैसे बंदर, कुत्ते भी इससे प्रभावित हो सकते हैं. इसलिए संक्रमित इलाकों में बाड़ लगाई जाए ताकि जानवर विशेष तौर से कुत्ते और बंदर न आ सकें. साथ ही यह भी कहा गया है कि हो सके तो चिड़ियों को भी आने से रोका जाए. दिशा-निर्देशों के मुताबिक इस बात का मूल्यांकन किया जा रहा कि प्रभावित शख्स से और किस तरह से संक्रमण का फैलाव हो सकता है. इसके बाद से सवाल इस बात के भी खड़ा हो गया है कि जिन घरों में पालतू जानवर हैं और उनके घर में भी सतर्कता बरतना बेहद जरूरी हो गया है. हालांकि अभी तक इस बात के कोई ठोस प्रमाण सामने नहीं हैं आए हैं कि जानवरों से इस रोग का संक्रमण मनुष्य होता है या नहीं. लेकिन मनुष्यों से जानवरों में इस बीमारी के फैलने के मामले सामने आ रहे हैं. फिलहाल जिन लोगों ने घर में कुत्ता, बिल्ली या अन्य कोई जानवर पाल रखें हैं उनके सतर्कता बरतने की जरूरत है और यह भी देखना होगा कि कहीं वे बाहर पड़ा कोई सामान तो नहीं खा रहे हैं. साथ ही चिड़ियों को लेकर भी खास सतर्कता बरतनी होगी.

महाराष्ट्र : CM उद्धव ठाकरे के घर ‘मातोश्री’ के पास चाय बेचने वाला निकला कोरोना पॉजिटिव, सुरक्षा में तैनात 150 से ज्यादा पुलिसकर्मियों को किया गया क्वारैन्टाइन

दवा के निर्यात पर केंद्र सरकार का बड़ा बयान, ‘बुरी तरह से प्रभावित देशों को दवाएं भेजेंगे’

साथ ही इस बात के साफ निर्देश दिए गए हैं कि जिस बिल्डिंग को आइसोलेशन सेंटर की तरह इस्तेमाल किया जा रहा है वहां पर प्रशिक्षित सिक्योरिटी तैनात की जाए ताकि बिल्डिंग के अंदर किसी भी बाहरी शख्स, जानवर आदि की आवाजाही रोकी जा सके. यह भी कहा गया है कि बिल्डिंग परिसर में आसपास खाने का भी सामान भी न फेंका जाए क्योंकि इसको खाकर चिड़ियों में भी यह संक्रमण फैल सकता है. वहीं यहां पर काम कर रहे सभी मेडिकल स्टाफ को पीपीई किट के भी इस्तेमाल करने के आदेश दिए गए हैं.

Continue Reading

Economy

SBI कर रहा बड़ी तैयारी, करोड़ों ग्राह‍कों को मिलेंगे ये दो तोहफे

Published

on

अगर आप स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया यानी SBI के ग्राहक हैं तो आपके लिए एक अच्‍छी खबर है. दरअसल, एसबीआई जल्‍द ही दो बड़े तोहफे देने की तैयारी में है. इसके तहत ग्राहकों को कई खास सुविधाएं मिलेंगी. आइए जानते हैं इन दोनों तोहफों के बारे में.

पहला बड़ा तोहफा 
एसबीआई का  पहला बड़ा तोहफा रुपे क्रेडिट कार्ड है. दरअसल, डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने के लिए एसबीआई कार्ड जल्द ही रुपे क्रेडिट कार्ड पेश करेगी.

एसबीआई कार्ड के अधिकारी के मुताबिक, ‘‘ हम जल्द ही (रुपे आधारित क्रेडिट कार्ड) पेश करने जा रहे हैं. भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (एनपीसीआई) के स्तर पर एक आखिरी समझौता होना बाकी रह गया है.मेरा मानना है कि यह एनपीसीआई इसे किसी भी दिन भेज सकता है और हम कुछ उत्पाद पेश करना जारी कर देंगे.’’अधिकारी के मुताबिक रुपे क्रेडिट कार्ड को चालू वित्त वर्ष में पेश कर दिया जाएगा.

Continue Reading

Economy

1 सितंबर से बदल रहे हैं बैंक से जुड़े ये 7 नियम, जान लीजिए रहेंगे टेंशन फ्री

Published

on

1 सितंबर 2019 से बैंक से जुड़े कई नियम बदलने वाले हैं, जो आपके जीवन पर सीधा असर डालने वाले हैं. आइए आपको बताते हैं इन नियमों के बारे में सबकुछ:

1 सितंबर 2019 से बैंक से जुड़े कई नियम बदलने वाले हैं, जो आपके जीवन पर सीधा असर डालने वाले हैं. जहां एक ओर बैंक घर खरीदना सस्ता कर रहे हैं. वहीं दूसरी ओर बैंक के टाइमिंग भी बदलने वाले हैं. स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) का होम लोन सस्ता हो जाएगा, जिसका सीधा असर आपकी जेब पर पड़ेगा. आइए आपको बताते हैं इन नियमों के बारे में सबकुछ:

59 मिनिट में होम, ऑटो और पर्सनल लोन
इस त्योहारी सीजन सरकारी बैंकों से 59 मिनट में होम लोन, ऑटो लोन और पर्सनल लोन (Personal Loan in 59 minute) लेने की सुविधा मिलनी शुरू हो सकती है. कई सरकारी बैंकों की 1 सितंबर से ग्राहकों को नई सुविधा शुरू करने की योजना है. ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (OBC) ने भी ‘psbloansin59minutes’ पर यह सुविधा शुरू करने का फैसला लिया है.

SBI के ग्राहकों को RLLR पर होम लोन मिलेगा
1 सितंबर से स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) ग्राहकों के लिए होम लोन लेकर घर खरीदना सस्ता हो जाएगा. दरअसल, SBI का रेपो लिंक्ड लेंडिंग रेट (RLLR) ने होम लोन इंडस्ट्री का पैटर्न ही चेंज कर दिया है. एसबीआई ने होम लोन की ब्याज दर में 0.20 फीसदी की कटौती की है. 1 सितंबर से होम लोन पर ब्याज दर 8.05 फीसदी होगी.

15 दिन में बैक जारी करेंगे किसान क्रेडिट कार्ड (KCC)
1 सितंबर से किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) बनवाना और भी आसान हो जाएगा. अधिकतम 15 दिनों में बैंक को किसान क्रेडिट कार्ड जारी करना होगा. केंद्र सरकार ने किसानों को राहत देते हुए बैंकों से किसान क्रेडिट कार्ड 15 दिन में जारी करने का निर्देश दिया है.

बैंक ऑफ महाराष्ट्र भी लागू करेगा नई ब्याज दरें
सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक ऑफ महाराष्ट्र (BoM) ने रविवार को कहा कि वह अपने रिटेल लोन को रेपो रेट से जोड़ेगा. इससे लोन सस्ते बनेंगे. बैंक ऑफ महाराष्ट्र ने कहा कि रिटेल लोन की ब्याज दर को रेपो रेट से जोड़कर बैंक ब्याज दर से जुड़े लाभ को सीधे ग्राहकों को पहुंचाएंगे. बता दें कि रेपो रेट से लोन की ब्याज दर जुड़ने के बाद रेपो रेट में आरबीआई द्वारा जब-जब बदलाव होगा, लोन की ब्याज दर भी बदलेगी.

1 सितंबर से बंद हो जाएगा आपका मोबाइल वॉलेट
अगर आप भी पेटीएम, फोनपे, गूगलपे जैसे मोबाइल वॉलेट का इस्तेमाल करते हैं, तो 31 अगस्त तक इनकी केवाईसी पूरी करा लें. केवाईसी पूरी न कराने के चलते 1 सितंबर से आपका मोबाइल वॉलेट काम करना बंद कर देगा. दरअसल भारतीय रिजर्व बैंक ने इन मोबाइल वॉलेट कंपनियों को अपने कस्टमर्स की केवाईसी पूरी कराने के लिए 31 अगस्त तक की समयसीमा दी थी, जिसके बाद बिना केवाईसी वाले वॉलेट बंद हो जाएंगे.

बदल सकता है बैंकों के खुलने का समय
ज्यादातर लोग बैंक से जुड़े काम करने के लिए बैंक खुलने का इंतजार करते हैं. ज्यादातर सभी पब्लिक सेक्टर बैंक (PSU) सुबह 10 बजे खुलते हैं और लोग 10 बजे का इंतजार करते हैं. लेकिन अब बैंकों के खुलने की टाइमिंग बदल सकती है. ऐसा होने पर ग्राहकों की परेशानी कम होगी. वह ऑफिस जानें से पहले अपना बैंक से जुड़ा काम निपटा पाएंगे. ये नए नियम सितंबर से लागू होंगे. अगर ये नियम लागू होते हैं तो बैंक सुबह 9 बजे खुलेंगे. केंद्रीय वित्त मंत्रालय के बैंकिंग डिवीजन ने सभी सरकारी और क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों को सुबह 9 बजे खोलने का प्रस्तायव दिया है.

Continue Reading
Advertisement
Advertisement

Trending