Connect with us

Delhi

फ्लाइट में BJP सांसद प्रज्ञा ठाकुर पर भड़के यात्री, कहा- आपको शर्म आनी चाहिए, देखिए VIDEO

Published

on

फ्लाइट में सीट को लेकर प्रज्ञा ठाकुर का क्रू मेंबर्स से विवाद हो गया. दरअसल वह इमरजेंसी सीट की मांग को लेकर प्लेन में ही धरने पर बैठ गईं. प्रज्ञा ठाकुर ने क्रू पर दुर्व्यवहार का आरोप लगाया. उन्होंने एयरपोर्ट डायरेक्टर से इसकी शिकायत भी की.

खास बातें

  1. भोपाल से बीजेपी सांसद हैं प्रज्ञा ठाकुर
  2. दिल्ली से भोपाल आ रही थीं बीजेपी MP
  3. बातचीत का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल

नई दिल्ली: अपने बयानों की वजह से सुर्खियों में रहने वालीं भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर (Pragya Thakur) एक बार फिर चर्चा में हैं. इस बार उनका एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें उन्हें फ्लाइट में बैठे यात्रियों के गुस्से का सामना करना पड़ा. वायरल हो रहे वीडियो में एक यात्री उनसे कहता है कि उन्हें शर्म आनी चाहिए. मिली जानकारी के अनुसार, बीजेपी सांसद निजी कंपनी के विमान से दिल्ली से भोपाल आ रही थीं.
फ्लाइट में सीट को लेकर प्रज्ञा ठाकुर का क्रू मेंबर्स से विवाद हो गया. दरअसल वह इमरजेंसी सीट की मांग को लेकर प्लेन में ही धरने पर बैठ गईं. प्रज्ञा ठाकुर ने क्रू पर दुर्व्यवहार का आरोप लगाया. उन्होंने एयरपोर्ट डायरेक्टर से इसकी शिकायत भी की. इस पूरे वाक्ये के दौरान यात्रियों ने फ्लाइट में ही बीजेपी सांसद पर जमकर गुस्सा निकाला. यात्रियों ने उनके व्यवहार की निंदा की और कहा कि वह जनप्रतिनिधि हैं और उन्हें ऐसा सलूक हरगिज नहीं करना चाहिए.

फ्लाइट में बैठे एक शख्स ने प्रज्ञा ठाकुर से कहा, ‘आप तो जनता की प्रतिनिधि हैं. आपका काम हमें परेशान करना नहीं है. आप अगली फ्लाइट लेकर आ जाइए.’ इसपर बीजेपी सांसद ने कहा कि इसमें फर्स्ट क्लास सुविधा नहीं है, फिर भी वह जा रही हैं, इसका कोई तो कारण होगा. वह शख्स इसपर भड़क जाता है और कहता है, ‘आपका राइट नहीं है फर्स्ट क्लास. आपको समझना चाहिए कि अगर आपकी वजह से एक आदमी भी परेशान हो रहा है तो आपको इसकी जिम्मेदारी लेनी चाहिए क्योंकि आप एक नेता हो. आपको इस बात की शर्म नहीं है कि 50 लोगों को आपने परेशान किया है.’ शर्म शब्द सुनते ही साध्वी भड़क जाती हैं और उसे सावधानीपूर्वक बोलने की हिदायत देती हैं. वह शख्स कहता है, ‘शर्म बहुत अच्छा शब्द है.’

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Crime

लॉकडाउनः दिल्ली पुलिस #COVID19#lockdown ड्यूटी में चोरो का गिरोह चोरी में एक्टिव

Published

on

लॉकडाउनः दिल्ली पुलिस #COVID19#lockdown ड्यूटी में चोरो का गिरोह चोरी में एक्टिव

Continue Reading

Bollywood

दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित हुए अमिताभ बच्चन

Published

on

बॉलीवुड के शहंशाह अमिताभ बच्चन को रविवार को दादासाहेब फाल्के अवॉर्ड से नवाजा गया। राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उन्हें यह पुरस्कार दिया। बिग बी ने दादासाहेब फाल्के मिलने पर कहा कि जब मुझे ये सम्मान मिला तो मुझे लगा कि क्या मेरा करियर खत्म हो चुका है। लेकिन बिग बी ने फिर कहा कि अभी उन्हें लगता है कि शायद फिल्म इंडस्ट्री में कुछ काम करना बाकी है।

इस दौरान बिग बी के परिवार से उनकी पत्नी जया बच्चन और बेटे अभिषेक बच्चन मौजूद थे।

बता दें 23 दिसंबर को दिल्ली में आयोजित हुए 66वें राष्ट्रीय पुरस्कार समारोह में खराब तबियत के कारण अमिताभ बच्चन नहीं पहुंच सके थे।

बिग बी ने ट्वीट कर कहा था, ‘बुखार के कारण अस्वस्थ्य हूं। यात्रा की अनुमति नहीं है इसीलिए कल दिल्ली में राष्ट्रीय पुरस्कार समारोह में भाग नहीं ले सकूंगा।दुर्भाग्यपूर्ण, मुझे पछतावा है’।’

 

Continue Reading

Cricket

दानिश कनेरिया ने कहा- मुझे हिंदी और पाकिस्तानी होने पर गर्व है, निशाना बनाया गया मुझे लेकिन कभी धर्म परिवर्तन के बारे में नहीं सोचा

Published

on

स्पॉट फिक्सिंग मामले में बैन चल रहे कनेरिया ने कहा कि जब वो खेला करते थे तब कुछ खिलाड़ी थे जो हिंदू होने के कारण उन्हें निशाना बनाते थे, लेकिन उन्होंने कभी धर्म बदलने की जरूरत या दबाव महसूस नहीं किया।

पाकिस्तान के हिंदू क्रिकेटर दानिश कनेरिया इन दिनों काफी चर्चा में हैं। स्पॉट फिक्सिंग मामले में बैन चल रहे इस क्रिकेटर ने शुक्रवार को कहा कि जब वो खेला करते थे तब कुछ खिलाड़ी थे जो हिंदू होने के कारण उन्हें निशाना बनाते थे, लेकिन उन्होंने कभी धर्म बदलने की जरूरत या दबाव महसूस नहीं किया। इसके अलावा उन्होंने ये भी कहा कि उन्हें हिंदू और पाकिस्तानी दोनों होने पर गर्व है। स्पॉट फिक्सिंग को लेकर कनेरिया पर लाइफ टाइम बैन लगाया जा चुका है। कनेरिया शोएब अख्तर के उस बयान के बाद चर्चा में आए हैं, जिसमें इस तेज गेंदबाज ने आरोप लगाया था कि कुछ पाकिस्तानी खिलाड़ी धर्म के कारण कनेरिया के साथ खाना खाने से भी इनकार कर देते थे।

‘हिंदू और पाकिस्तानी होने पर मुझे गर्व’

कनेरिया ने शुक्रवार को ‘समां’ चैनल से कहा कि कुछ खिलाड़ी पीठ पीछे उनको लेकर टिप्पणियां करते थे। उन्होंने कहा, ‘मैंने कभी इसे मुद्दा नहीं बनाया। मैंने केवल उन्हें नजरअंदाज किया क्योंकि मैं क्रिकेट पर और पाकिस्तान को जीत दिलाने पर ध्यान लगाना चाहता था।’ कनेरिया ने कहा, ‘मुझे हिंदू और पाकिस्तानी होने पर गर्व है। मैं ये साफ करना चाहता हूं कि पाकिस्तान में हमारे क्रिकेट समुदाय को निगेटिव तरीके से पेश करने की कोशिश न करें क्योंकि बहुत से ऐसे लोग हैं, जिन्होंने मेरा पक्ष लिया और मेरे धर्म के बावजूद मुझे सपोर्ट किया।’ कनेरिया से जब पूर्व बल्लेबाज यूसुफ योहाना (बाद में मोहम्मद यूसुफ) के बारे में पूछा गया जो ईसाई थे लेकिन बाद में उन्होंने इस्लाम धर्म अपना लिया था, उन्होंने कहा कि वो किसी की निजी पसंद पर टिप्पणी नहीं करना चाहते हैं।

वसीम अकरम का वीडियो हुआ लीक, अख्तर ने शेयर कर जानिए क्या लिखा

 

‘इंजमाम ने हमेशा मुझे सपोर्ट किया’

उन्होंने कहा, ‘मोहम्मद यूसुफ ने जो किया ये उनका निजी फैसला था, मुझे कभी धर्म परिवर्तन की जरूरत महसूस नहीं हुई क्योंकि मेरी इसमें आस्था है और कभी मुझ पर दबाव भी नहीं बनाया गया।’ कनेरिया ने अख्तर की टिप्पणी आने के बाद भेदभाव की बात स्वीकार की थी और कहा था कि वो नामों का खुलासा करेंगे लेकिन अब उन्होंने नरम रवैया अपनाया। उन्होंने कहा, ‘शोएब भाई ने जो कहा, उन्होंने उसे सुना होगा या किसी ने उन्हें बताया होगा लेकिन मैंने टॉप लेवल पर पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व किया है और मुझे उस पर गर्व है। जब मैं क्रिकेट में आया तो मैं शुरू से ही टॉप लेवल पर पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व करना चाहता था और मैंने ऐसा किया।’ अपने करियर में 61 टेस्ट खेलने वाले इस लेग स्पिनर ने स्पष्ट किया कि पूर्व कप्तान इंजमाम उल हक ने हमेशा उनका समर्थन किया। उन्होंने कहा, ‘इंजमाम ने मुझे मैच विनर कहा था। मैं कह सकता हूं कि कई संस्थानों ने मेरे करियर को संवारने में मेरी मदद की। मैंने इंजमाम को सही साबित करने के लिए हमेशा अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। सच्चाई ये है कि मुझे पाकिस्तानी होने पर गर्व है।’

‘इस मसले पर राजनीति नहीं करें’

कनेरिया से जब उन खिलाड़ियों के नाम बताने के लिये कहा गया जिन्होंने उन्हें निशाना बनाया, तो उन्होंने कहा कि वह अपने यूट्यूब चैनल पर बाद में इन नामों का खुलासा करेंगे। उन्होंने कहा, ‘ये उसके लिए सही वक्त नहीं है। मैं अपने चैनल पर इस संबंध में बात करूंगा।’ कनेरिया से जब उस घटना के बारे में बताने के लिए कहा गया जब खिलाड़ियों ने उनके साथ खाने से इनकार कर दिया था, उन्होंने कहा, ‘पाकिस्तान मेरी जन्मभूमि है और कुछ खिलाड़ियों के व्यवहार के कारण किसी को इस मसले का राजनीतिकरण नहीं करना चाहिए। मैं सभी से आग्रह करूंगा कि इसे गलत दिशा नहीं दें।

Continue Reading
Advertisement
Advertisement

Trending