Connect with us

Election

Akali Dal Ministers burns photos of Navjot Singh Sidhu

Published

on

The Akali Dal on Monday sought dismissal of Punjab minister Navjot Singh Sidhu for his ‘utterances’ in the aftermath of the Pulwama attack even as Akali leader Bikram Singh Majithia and the cricketer-turned-politician exchanged barbs in the House.

Before the start of the Punjab Budget session, Akali leaders led by Majithia bunt the photographs of Sidhu including those in which he is seen hugging the Pakistan Army chief, outside the House. Sidhu visited Pakistan to attend the oath-taking ceremony of Khan, a cricketer-turned-politician, on August 18 last year.

“Before everything else, we want to know the clear stand of the Congress and the Punjab government. Do they condemn Pakistan Army Chief and Pakistan Prime Minister Imran Khan,” Majithia asked to reporters.

After passing a unanimous resolution in the House for condemning the Pulwama terror attack, Sidhu was still saying, “You cannot blame Pakistan, you cannot blame an individual,” Majithia told.

“We want Sidhu should be thrown out of the cabinet for his utterances,” said former Akali minister.

As the Question Hour commenced, SAD-BJP MLAs stood up and raised slogans against Sidhu.

Sidhu and Majithia were even involved in a verbal duel even as the Speaker asked them not to disrupt the Question Hour.

 

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Election

झारखंड चुनाव: जहां भी पीएम मोदी और अमित शाह ने की रैली, उन इलाकों में हार गई बीजेपी

Published

on

झारखंड चुनाव में बीजेपी की तमाम कोशिशों के बावजूद पार्टी अपनी सत्ता नहीं बचा सकी। बड़ी बात यह कि चुनाव में नरेंद्र मोदी और अमित शाह की तमाम सभाओं का भी खास असर नहीं हुआ।

  • झारखंड चुनाव में बीजेपी के तमाम स्टार प्रचारकों का चुनावी कैंपेन रहा बेअसर
  • 40 से ज्यादा स्टार प्रचारकों और दर्जनों सांसदों के चुनाव प्रचार के बावजूद हारी बीजेपी
  • जमशेदपुर पश्चिम में भी बीजेपी को नहीं मिला प्रधनमंत्री की चुनावी रैली का लाभ नहीं मिला
  • चुनाव के दौरान गृहमंत्री अमित शाह का जादू भी झारखंड के मतदाताओं पर नहीं चला

रांची
झारखंड विधानसभा चुनाव में 40 से ज्यादा स्टार प्रचारकों और दर्जनों सांसदों के चुनाव प्रचार के बावजूद बीजेपी चुनावी परिणाम को अपने पक्ष में नहीं कर सकी। दूसरी ओर कम स्टार प्रचारकों के साथ उतरे गठबंधन ने अच्छी सफलता प्राप्त कर झारखंड की सत्ता बीजेपी से छीन ली। बीजेपी के स्टार प्रचारकों की सूची में सबसे ऊपर रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अध्यक्ष अमित शाह ने जिन-जिन क्षेत्रों में रैलियां कीं, अधिकांश क्षेत्रों में बीजेपी प्रत्याशियों को हार का सामना करना पड़ा।

जमशेदपुर में नरेंद्र मोदी ने चुनावी रैली की थी, परंतु बीजेपी को सबसे बड़ी हार का सामना वहीं करना पड़ा, जहां मुख्यमंत्री रघुवर दास को उनके ही मंत्रिमंडल के सहयोगी रहे और बगावत कर चुनावी मैदान में बतौर निर्दलीय उतरे सरयू राय के सामने हार का मुंह देखना पड़ा। जमशेदपुर पश्चिम में भी प्रधनमंत्री की चुनावी रैली का लाभ नहीं मिला और वहां भी बीजेपी के देवेंद्र नाथ सिंह को कांग्रेस के बन्ना गुप्ता ने पटखनी दे दी।

प्रधानमंत्री ने इसके अलावा गुमला, बरही, दुमका और बरहेट में भी चुनावी रैलियों को संबोधित किया था, परंतु उन क्षेत्रों में भी बीजेपी प्रत्याशियों को हार का मुंह देखना पड़ा। दुमका और बरहेट से जेएमएम, आरजेडी और कांग्रेस गठबंधन के मुख्यमंत्री प्रत्याशी हेमंत सोरेन ने जीत दर्ज की। बीजेपी के दूसरे स्टार प्रचारक और देश के गृहमंत्री अमित शाह का जादू भी झारखंड के मतदाताओं पर नहीं चला। उन्होंने ने भी जिन इलाकों में चुनावी रैलियों को संबोधित किया, उनमें से अधिकांश क्षेत्रों में बीजेपी प्रत्याशियों को हार का सामना करना पड़ा।

शाह ने इस चुनाव में मनिका, लोहरदगा, चतरा, गढ़वा, बहरागोड़ा, चक्रधरपुर, गिरिडीह, पाकुड़, पोडैयाहाट, देवघर और बाघमारा में कुल 11 चुनावी रैलियों को संबोधित किया था। इनमें से मात्र देवघर और बाघमारा सीट को छोड़कर सभी सीटों पर बीजेपी प्रत्याशियों को हार का सामना करना पड़ा। उल्लेखनीय है कि बीजेपी के स्टार प्रचारकों में शामिल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृहमंत्री और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, स्मृति इरानी ने यहां कई दौरे किए थे। दूसरी तरफ, कांग्रेस ने झारखंड बनने के बाद पहली बार इतनी बड़ी सफलता पाई है।

कांग्रेस ने जीती 16 सीट
कांग्रेस ने इस चुनाव में जेएमएम और आरजेडी के साथ चुनावी गठबंधन कर 16 सीटों पर जीत दर्ज की है। कांग्रेस की ओर से या यूं कहे गठबंधन की ओर से स्टार प्रचारक राहुल गांधी ने इस चुनाव में सिमडेगा, राजमहल, बड़कागांव, खिजरी और महागामा में कुल पांच चुनावी रैलियां की। इनमें से सिर्फ राजमहल सीट से कांग्रेस प्रत्याशी को हार का समना करना पड़ा, बाकी चार सीटों पर कांग्रेस के प्रत्याशी विजयी हुए।

प्रियंका की रैली वाले इलाके में कांग्रेस की जीत
कांग्रेस की स्टार प्रचारक प्रियंका गांधी ने इस चुनाव में सिर्फ पाकुड़ में एक चुनावी रैली को संबांधित किया, जहां से कांग्रेस प्रत्याशी आलमगीर आलम ने राज्य में सर्वाधिक मतों के अंतर (65,108 मतों से) से जीत दर्ज की है। इस चुनाव में जेएमएम के स्टार प्रचारक हेमंत सोरेने ने कुल 54 सीटों पर प्रत्याशियों के प्रचार के लिए 126 चुनावी रैलियों को संबोधित किया, जिसमें से 47 सीटों पर गठबंधन के प्रत्याशी विजयी हुए हैं।

Continue Reading

Election

झारखंड चुनाव परिणाम 2019 Live: रुझानों में कांग्रेस-जेएमएम को ताज, भाजपा ने गंवाया एक और राज्य

Published

on

Jharkhand Assembly Election Results 2019: झारखंड विधानसभा की 81 सीटों के लिए पांच चरणों में 30 नवंबर से 20 दिसंबर के बीच हुए मतदान के बाद सभी सीटों के लिए ईवीएम में बंद मतों की गणना सोमवार को जारी है. झारखंड विधानसभा चुनाव में 1,087 पुरुष, 127 महिला तथा एक तीसरे लिंग के उम्मीदवारों समेत कुल 1,215 उम्मीदवारों ने अपना भाग्य आजमाया था.झारखंड में पांच चरणों में 29,464 मतदान बूथों में 41,870 इवीएम मशीनों पर वोट डाले गए थे. इस बीच 24 जिला मुख्यालयों में त्रिस्तरीय सुरक्षा के बीच मतगणना जारी है. मतगणना का अधिकतम दौर चतरा में 28 राउंड और सबसे कम दो राउंड चंदनकियारी और तोरपा सीटों पर होगा. निर्वाचन आयोग ने सभी जिला मुख्यालयों में इस बाबत इंतजाम कर लिए हैं. पहला परिणाम सोमवार दोपहर 1 बजे आने की उम्मीद है. मुख्य मुकाबला सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और कांग्रेस-झारखंड मुक्ति मोर्चा(झामुमो)-राष्ट्रीय जनता दल (राजद) गठबंधन के बीच है. सबकी निगाहें जमशेदपुर पूर्वी सीट पर टिकी रहेंगी. मुख्यमंत्री रघुबर दास वर्ष 1995 से यहां से जीतते आ रहे हैं. उनके खिलाफ उनके पूर्व-कैबिनेट सहयोगी सरयू राय मैदान में हैं. राय ने पार्टी से टिकट कटने के बाद बगावत कर मुख्यमंत्री की राह का कांटा बनने का फैसला किया. अन्य महत्वपूर्ण सीटें हैं- दुमका और बरहेट, जहां से झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन चुनाव लड़ रहे हैं. दुमका में वह समाज कल्याण मंत्री लुइस मरांडी के खिलाफ मैदान में हैं. इसके अलावा सिल्ली से आजसू अध्यक्ष सुदेश महतो चुनावी मैदान में हैं, वहीं धनवार सीट पर झाविमो अध्यक्ष बाबू लाल मरांडी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं. लगभग सभी एक्जिट पोल के नतीजों में भाजपा राज्य में बहुमत से दूर है.

Continue Reading

Delhi

Shri Narendra Modi takes oath for the second term as the Prime Minister of India

Published

on

Shri Narendra Modi takes oath for the second term as the Prime Minister of India at Rashtrapati Bhawan in New Delhi

Continue Reading
Advertisement
Advertisement

Trending