Connect with us

Hindi

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहुंचे कृष्ण नगरी वृंदावन, बोले- हमने बच्चों की सुरक्षा पर ध्यान दिया

At vero eos et accusamus et iusto odio dignissimos ducimus qui blanditiis praesentium voluptatum deleniti.

Published

on

Photo: PMO

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को उत्तर प्रदेश के वृंदावन में अक्षयपात्र फाउंडेशन के कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे। इस दौरान उन्होंने फाउंडेशन द्वारा गरीब स्कूली छात्रों को तीन अरबवीं थाली परोसी। इस कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां एक जनसभा को भी संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने अपनी सरकार की उपलब्धियां भी गिनवाईं।

इधर अक्षय पात्र संस्था के बाहर मुख्य गेट पर जमा भीड़ को पैरा मिलट्री और पुलिस ने हटाना शुरू कर दिया है। करीब आठ दस हजार लोग बाहर जमा हैं। जो छटीकरा- वृंदावन मार्ग पर हैं। भीड़ में प्रधानमंत्री को एक बार देखने और सुनने के लिए जबरदस्‍त उत्‍साह है। लोग लगातार प्रधानमंत्री जिंदाबाद के नारे लगा रहे हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘हमने टीकाकरण अभियान को मिशन मोड में चलाने का फैसला किया। मिशन इंद्रधनुष से देश में लगभग 3 करोड़ 40 लाख बच्चों और 90 लाख गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण किया गया है। जिस गति से काम हुआ है, उससे तय है कि सम्पूर्ण टीकाकरण का हमारा लक्ष्य अब दूर नहीं है।’ प्रधानमंत्री का आगे कहना था कि मिशन इंद्रधनुष को दुनियाभर में सराहा जा रहा है। पिछले दिनों एक मशहूर मेडिकल जनरल ने मिशन इंद्रधनुष को दुनिया के 12 बेस्ट प्रैक्टिसेज में चुना है।

Amir

खत्म हुआ इंतजार, इस दिन लॉन्च होगा 48MP कैमरे वाला Redmi Note 7

Published

on

Redmi Note 7 को 28 फ़रवरी को लॉन्च किया जाएगा. दरअसल, भारत में इसे 12 फरवरी को लॉन्च किया जाना था, जिसके लिए मीडिया इनवाइट भी भेजा जा चूका था, लेकिन बाद में बताया गया कि यह एक फेक मीडिया इनवाइट है. दरअसल, शाओमी इंडिया ने अपने ट्विटर हेंडल पर एक ट्वीट किया है, जिसमें कंपनी ने Redmi Note 7 को 28 फरवरी को लॉन्च करने की बात कही है. बता दें कि यह फोन चीन में पहले ही लॉन्च हो चूका है और कंपनी के आंकड़ों के मुताबिक महीने भर में इस फोन का 10 लाख युनिट्स बेचा जा चूका है.

Redmi Note 7 के संभावित फीचर्स
जैसा की हमने आपको बताया है कि चीन में यह फोन पहले लॉन्च हो चूका है, जिससे इसके फोन के फीचर्स का अंदाज़ा लगाया जा सकता है. इसमें 6.3 इंच की फुल एचडी एलटीपीएस डिस्प्ले है, जिसका रेसियो 19:5:9 है और इसमें 450 निट्स ब्राइटनेस, 84 परसेंट एनटीएससी कलर गेमट, कॉर्निंग गोरिल्ला ग्लास 5 और 2.5डी कर्व ग्लास प्रोटेक्शन है. यह Qualcomm Snapdragon 660 octa-core SoC पर काम करेगा, इसमें 3 जीबी, 4 जीबी और 6 जीबी रैम का ऑप्शन मिला है जिसकी स्टोरेज 32 जीबी और 64 जीबी है. इसमें 48 मेगापिक्सल का डुअल कैमरा है, जिसमें सोनी IMX586 सेंसर भी है. इसमें 5 मेगापिक्सल का सेंसर भी है. ये शियोमी का पहला 48 मेगापिक्सल स्मार्टफोन होगा, जिसको लेकर मनु जैन ने पहले ट्विटर पर टीज़ भी किया है. इस फोन में फ्रंट कैमरा 13 मेगापिक्सल का है. इसके अलावा फोन में 4000 एमएएच बैटरी है और क्विक चार्ज सपोर्ट का ऑप्शन भी है. इसकी शुरुआती कीमत 9999 रुपए हो सकती है.

Continue Reading

Amir

20 के बाद मिलेगी ठंड से राहत पारा घटकर 12 डिग्री पर पहुंचा

Published

on

राजधानी भोपाल सहित राज्य के कई अन्य हिस्सों में सोमवार सुबह से आसमान में बादल छाए हुए हैं। वहीं, हवाएं ठंड का अहसास करा रही हैं। राज्य में हवा का रुख बदलने से मौसम में बदलाव आया है। मौसम विभाग के अनुसार, उत्तरी हवाएं चलने से ठंड फिर बढ़ी है। सोमवार की सुबह से धीमी गति से हवाएं चल रही हैं। मौसम विभाग के अनुसार, आगामी 24 घंटों में राज्य के कई हिस्सों में बौछारें पड़ सकती है और ठंड का जोर बढ़ सकता है।

मौसम में उतार-चढ़ाव और धूप-छांव होने की वजह से अब लोग बीमार भी पड़ने लगे हैं। लोगों को सर्दी और जुकाम ने जकड़ लिया है।

अगले एक हफ्ते ऐसा रहेगा मौसम
18-19 फरवरी- रात का तापमान 10 से 12 डिग्री तक रहने की संभावना। 20, 21 फरवरी- को रात का तापमान 12 से 15 डिग्री तक पहुंच सकता है। दिन का तापमान 30-31 डिग्री पार जा सकता है। 22-23-24 फरवरी- दिन और रात के तापमान में 2 से 4 डिग्री तक गिरावट संभव।

Continue Reading

Amir

पेड़-पौधे लगाने में सबसे आगे हैं भारत और चीन

Published

on

नासा के एक ताजा रिसर्च में आम अवधारणा के उलट यह पाया गया है कि भारत और चीन पेड़ लगाने
के मामले में विश्व में सबसे आगे हैं। इस अध्ययन में सोमवार को कहा गया कि दुनिया 20 वर्ष पहले
की तुलना में अधिक हरी-भरी हो गई है। नासा के उपग्रह से मिले आंकड़ों एवं विश्लेषण पर आधारित
अध्ययन में कहा गया कि भारत और चीन पेड़ लगाने के मामले में आगे हैं। नासा के अध्ययन में कहा
गया है कि चीन वनों (42 प्रतिशत) और कृषिभूमि (32 प्रतिशत) के कारण हरा भरा बना है जबकि भारत
में ऐसा मुख्यत: कृषिभूमि (82 प्रतिशत) के कारण हुआ है। इसमें वनों (4.4 प्रतिशत) का हिस्सा बहुत कम
है। चीन भूक्षरण, वायु प्रदूषणऔर जलवायु परिवर्तन को कम करने के लक्ष्य से वनों को बढ़ाने और उन्हें
संरक्षित रखने के महत्वाकांक्षी कार्यक्रम चला रहा है। भारत और चीन में 2000 के बाद से खाद्य उत्पादन
में 35 प्रतिशत से अधिक बढ़ोतरी हुई है। नासा के अमेस अनुसंधान केंद्र में एक अनुसंधान वैज्ञानिक और
अध्ययन की सह लेखक रमा नेमानी ने कहा, ‘जब पृथ्वी पर वनीकरण पहली बार देखा गया तो हमें लगा
कि ऐसा गर्म और नमी युक्त जलवायु और वायुमंडल में अतिरिक्त कार्बन डाईऑक्साइड की वजह से
उर्वरकता के कारण है

Continue Reading
Advertisement
Advertisement

Trending